सेक्सी भाभी की चुदाई

सभी चूत की दीवनो को मेरा हेलो! मैं आज आपको एक मस्त देसी चुदाई कहानी बताने जा रहा हु जिसमे मैंने अपने पडोसवाली भाभी को चोदा। आज से दो महीने पहले की बात है मैं अपनी बाईक से बाज़ार जा रहा था, तो मेरे से घर से बाजू वाली संध्या भाभी रास्ते में कही जा रही थी। (desi kahani, gandi kahani, bhabhi ki chudai)

मैंने उससे पूछा, “संध्या भाभी ! चलो मैं तुम्हें छोड़ दूंगा मैं बाज़ार जा रहा हूँ।”

वो भी बाज़ार जा रही थी सो तैयार हो मेरे पीछे बाइक पर बैठ गई .बाज़ार में हमने काफी कपड़े खरीदे.

शोपिंग करने के बाद मैंने उसे कहा “चलो कहीं जूस या काफ़ी पीते हैं।”

उसने कहा, “चलो !”

सामने के कोफ़ी हाउस में हम पहुंचे।काफी का आर्डर देने के बाद मैंने उससे पूछा कि तुम्हे जल्दी तो घर नहीं जाना है तो वो बोली, “वो तो पन्द्रह दिन के लिए बाहर गए हुए हैं इसलिए कोई जल्दी नहीं है”

मैंने संध्या से कहा, ” तो चलो आज खाना मेरे दोस्त के गेस्ट हाउस में खाते हैं।”

वो तैयार हो गयी।धीरे धीरे हमारी बाते खुलकर होने लगी बातो बातो में उसने बताया मेरे पति मुझे कभी संतुष्ट नहीं कर पाए है।फ़िर
मैं उसको अपने एक दोस्त के गैस्ट हाऊस में ले गया। काफी पीते पीते मैंने दोस्त से कमरे के लिए बात कर ली सो मेरे दोस्त ने मुझे बहुत अच्छा ऐसी कमरा दिया वहा हमने खाना खाकर आराम से कमरे में बेठे थे संध्या उस समय खुबसूरत लग रही थी. ये कहानी आप फ्री हिंदी सेक्स स्टोरीज डॉट नेट पर पढ़ रहे है।

Hindi sex story – प्यासी बीवी, अधेड़ पति

मैंने कहा, “अब हम दोनों कुछ मज़ा ले”

वो बोली, “किसी को पता चल गया तो?”

मैंने उसे कहा, “अरे कुछ नहीं होगा, यह मेरे दोस्त का होटल है।”

वो तैयार हो गयी। मैंने उसको धीरे धीरे सहलाना शुरू किया फिर उसके गले में चूमते चुमते बूब को दबा दिया वो सिसकी-ऊह ! फ़िर मैंने उसकी साड़ी धीरे धीरे प्यार से अलग कर दिया। अब उसके बड़े बड़े बूब्स उसके हाफ ब्लाउज़ से अलग ही नजारा दिखा रहे थे।

फिर मैंने अपना टी शर्ट और जींस दोनों उतार दिए और सिर्फ़ अन्डरवीयर में आ गया। अब मैं और अपने होंठों से उसके होंठों पर
चूमना करना शुरू किया, फ़िर गाल पर, गले पर और हर जगह फ़िर मैंने उसके पेटिकोट को उतार दिया और नीचे से हाथ डाल कर उसकी चूत को पैंटी के ऊपर से ही सहलाने लगा।

वो सीत्कार करने लगी, “आह्ह ! आ !”

फिर अपना दूसरा हाथ से उसकी पैंटी को खींच कर निकाल दिया। अब उसके ब्लाऊज़ के बटन खोल कर उतार दिया और वो ब्रा में आ गयी। मैंने देर ना करते हुए ब्रा भी उतार दी। ओह! क्या बूब्स थे ! बड़े और सख्त !मैं उन्हें मसलने और जोर से दबाने लगा। ये कहानी आप फ्री हिंदी सेक्स स्टोरीज डॉट नेट पर पढ़ रहे है।

मैंने उसके निप्पल को अपनी उंगलियों में लेकर दबाया, वो जोर से सिसकने लगी, “उह उह आह मेरी जान आज मुझे पूरी तरह से
चुदाई का मज़ा दो”

Hindi sex story – बीवियों की अदला बदली करके नंगी चुदाई

मैंने अपना अन्डरवीयर निकाल दिया और अपना लण्ड उसके हाथ में दे दिया। वो मेरे लण्ड को रगड़ने लगी अपने हाथ से। मेरी भी आहें निकलने लगी। और मैंने उसको लन्ड मुंह से चूसने को बोला। उसने मेरे लण्ड को अपने मुंह में ले लिया और मैं 69 पोजीसन होकर उसकी चूत के पास पहुंच गया और फ़िर मैं उसकी चूत जीभ से चाटने लगा मेरी जीभ उसकी चूत में इधर उधर हो रही थी और वो मेरा पूरा लण्ड चूस रही थी।

थोड़ी देर बाद वो बोली, “अब तुम मुझे चोदो अपने लण्ड से, अब मुझसे रहा नहीं जाता!… चोदो मुझे ! चोदो!”

मैं सीधा हुआ और अपना लण्ड उसकी चूत के ऊपर सहलाने लगा। उसकी टाईट चूत को चोदने के लिए मैंने पहला झटका ही जोर से दिया….

वो चिल्लाई, “ओह्ह ! मर गई मैं! दर्द हो रहा है मुझे !”

अभी मेरा आधा लण्ड उसकी चूत में गया था। काफ़ी टाईट चूत थी…फ़िर एक बार फिर जोर के झटके से अपना पूरा लण्ड उसकी चूत में डाल दिया।

वो सिसकी, “आह धीरे धीरे !”

फ़िर मैं धीरे धीरे अपने लण्ड को आगे पीछे करने लगा। कुछ देर बाद वो अपना दर्द भूल गई थी और मजे लेने लगी.

इधर मैंने अपने झटकों की ताकत बढ़ाई तो वो सीत्कारने लगी,” ओहो! ह्म्म! आ ! जोर से ! और दे धक्के ! ”

मैं और जोर से उसे चोदने लगा। थोड़ी देर बाद वो झड़ गई। उसकी चूत का रस टपकने लगा मुझे और मज़ा आने लगा। उसे भी काफ़ी मज़ा आ रहा था। उसके झड़ने से कमरे में फ़च फ़च की आवाज़ गूंज़ने लगी। थोड़ी देर बाद मुझे लगने लगा कि मैं भी डिस्चार्ज होने वाला हूं, और उसको बेड पर उल्टा कर से कुतिया बना कर पीछे से उसकी चूत में अपना लण्ड घुसाया। ये कहानी आप फ्री हिंदी सेक्स स्टोरीज डॉट नेट पर पढ़ रहे है।

Hindi sex story – इश्क़ और चुदाई

वो सिसकी-,”आह ! ओ! ह्ह”

फ़िर मैंने पीछे से जोर जोर से धक्के लगाने शुरू किए। उसको बहुत मज़ा आ रहा था.अब मुझे लगा कि मेरा लौड़ा नहीं रुकेगा, मैंने उससे कहा, “मैं अब झड़ने वाला हूं। ”

वो जोर से बोली,” मेरी चूत में ही डालना ”

मैं अपनी पूरी ताकत से उसकी टाईट चूत में झटके लगा और झटके के साथ मैंने अपना पूरा माल उसके चूत में छोड़ दिया. उसने मुझे कसकर जकड लिया अब हम थकगए थे सो हम नंगे ही बेड पे पड़े रहे। फ़िर हम एक घंटे बाद अपने कपड़े पहन कर गेस्ट हाउस से निकल गए, मैंने उसको घर छोड़ दिया…..



"hindi sexi stroy"amtarvasna"desi incest story""indian sax""chudai ki kahani in hindi"चोदा"sex story in odia""sex storiea""hindi sexx stori""maa beta sex story""antervasna hindi""indain sex stories""bhabhi sex story"antarvasana.com"ammayi sex""bus sex story""xossip story""desi khaniya""saali ki chudai""sex story meri chudai""sex storey""brother sex with sister""kamuk kahani""antarvasna mastram""indian sex stories""mami ko choda""latest desi kahani""स्टोरी सेक्स""hindi story sexy""hindi sex storey""new hindi sexy story""sexy story in hindi new"sexsy"samuhik chudai kahani""holi main chudai""group sex indian""indina sex""chudai kahani""india sex story""jija sali"antervsna"mastram hindi sex""didi ki gaand""mastram ki kahani""chudai khani""sasur bahu ki chudai kahani""bhabhi ki choot""chut hindi story""odia sex stories""hindi chudai ki kahani""new sex stories""desi sex story in hindi"saxkhani"chudai ki kahaniya""rishton me chudai"चुद"mastram ki story in hindi""india sex stories""behan ki chudai""hinde sex story""hindi sex storie""antarvasna com""sex storis""हिंदी सेक्स स्टोरीज""girl sex story in hindi""mami ko choda""hindi chudai kahani""sex brother sister""bhabhi xx""bhabhi ke sath sex""सेक्स कहानी""mastram ki hindi sexy kahani""meri chudai""desi chudayi""mastram net""desi chudai stories""porn story""hindi erotic stories""hindi sex stoey""sexy story kahani""sax story hindi""hindi sax satory""sexy hindi stories"seex"चूत चुदाई"