ससुर ने की बहु की ठुकाई

वैसे तो यह आम सी बात है और बहुतों की जिंदगी आपसी समझ की कमी से कुछ इसी तरह की हो जाती है और अलगाव बढ़ जाता है। पर फिर जिंदगी में कोई आ जाता है तो दुनिया महक उठती है रंगीन हो जाती है।मेरी उमर अब लगभग 46 वर्ष की हो चुकी है। मैं अपना एक छोटा सा बिजनेस चलाता हूँ। पढ़िए हिंदी सेक्स स्टोरी हमारी वेबसाइट पर. Hindi chudai kahaniya

Bookmark for Hindi Chudai kahaniya

20 साल की उम्र में शादी के बाद मेरी जिंदगी बहुत खूबसूरत रही थी, ऐसा लगता था कि जैसे यह रोमान्स भरी जिंदगी यूं ही चलती रहेगी।

उन दिनों जब देखो तब हम दोनों खूब चुदाई करते थे। मेरी पत्नी सुमन बहुत ही सेक्सी युवती थी।

फिर समय आया कि मैं एक लड़के का बाप बना। उसके लगभग एक साल बीत जाने के बाद सुमन ने फिर से कॉलेज जॉयन करने की सोच ली।

वो ग्रेजुएट होना चाहती थी।

नये सेशन में जुलाई से उसने एडमिशन ले लिया…

Bookmark for Hindi Chudai kahaniya

फिर चला एक खालीपन का दौर… सुमन कॉलेज जाती और आकर बस बच्चे में खो जाती। मुझे कभी चोदने की इच्छा होती तो वो बहाना कर के टाल देती थी।

एक बार तो मैंने वासना में आकर उसे खींच कर बाहों में भर लिया… नतीजा … गालियाँ और चिड़चिड़ापन।

मुझे कुछ भी समझ में नहीं आता था कि हम दोनों में ऐसा क्या हो गया है कि छूना तक उसे बुरा लगने लगा था।

इस तरह सालों बीत गये।

उसकी इच्छा के बिना मैं सुमन को छूता भी नहीं था, उसके गुस्से से मुझे डर लगता था।

Bookmark for Hindi Chudai kahaniya

मेरा लड़का भी 21 वर्ष का हो गया और उसने अपने लिये बहुत ही सुन्दर सी लड़की भी चुन ली।

उसका नाम कोमल था। बी कॉम करने के बाद उसने मेरे बिजनेस में हाथ बंटाना चालू कर दिया था।

मेरी पत्नी के व्यवहार से दुखी हो कर मेरे लड़के विजय ने अपना अलग घर ले लिया था।

घर में अधिक अलगाव होने से अब मैं और मेरी पत्नी अलग अलग कमरे में सोते थे।

एकदम अकेलापन … सुमन एक प्राईवेट स्कूल में नौकरी करने लगी थी। उसकी अपनी सहेलियाँ और दोस्त बन गये थे।

तब से उसके एक स्कूल के टीचर के साथ उसकी अफ़वाहें उड़ने लगी थी… मैंने भी उन्हें होटल में, सिनेमा में, गार्डन में कितनी ही बार देखा था।

पर मजबूर था… कुछ नहीं कह सकता था। मेरे बेटे की पत्नी कोमल दिन को अक्सर मुझसे बात करने मेरे पास आ जाती थी।

मेरा मन इन दिनों भटकने लगा था।

Bookmark for Hindi Chudai kahaniya

मैं दिनभर या तो सेक्सी कहानियाँ पढ़ता रहता था या फिर पोर्न साईट पर चुदाई के वीडियो देखता रहता था। फिर मुठ मार कर सन्तोष कर लेता था।

कोमल ही एक स्त्री के रूप में मेरे सामने थी, वही धीरे धीरे मेरे मन में छाने लगी थी।

उसे देख कर मैं अपनी काम भावनायें बुनने लगता था।

इस बात से कोसों दूर कि कि वो मेरे घर की बहू है।

कोमल को देख कर मुझे लगता था कि काश यह मुझे मिल जाती और मैं उसे खूब चोदता … पर फिर मुझे लगता कि यह पाप है… पर क्या करता… पुरुष मन था… और स्त्री के नाम पर कोमल ही थी जो कि मेरे पास थी।

Bookmark for Hindi Chudai kahaniya

एक दिन कोमल ने मुझे कुछ खास बात बताई।

उससे दो चीज़ें खुल कर सामने आ गई। एक तो मेरी पत्नी का राज खुल गया और दूसरे कोमल खुद ही चुदने तैयार हो गई।

कोमल के बताये अनुसार मैंने रात को एक बजे सुमन को उसके कमरे में खिड़की से झांक कर देखा तो… सब कुछ समझ में आ गया… वो अपना कमरा क्यों बंद रखती थी, यह राज़ भी खुल गया।

एक व्यक्ति उसे घोड़ी बना कर चोद रहा था।

Bookmark for Hindi Chudai kahaniya

सुमन वासना में बेसुध थी और अपने चूतड़ हिला हिला कर उसका पूरा लण्ड ले रही थी।

उस व्यक्ति को मैं पहचान गया वो उसके कॉलेज टाईम का दोस्त था और उसी के स्कूल में टीचर था।

मैंने यह बात कोमल को बताई तो उसने कहा- मैंने कहा था ना, मां जी का सुरेश के साथ चक्कर है और रात को वो अक्सर घर पर आता है।

“हाँ कोमल… आज रात को तू यहीं रह जा और देखना… तेरी सासू मां क्या करती है।”

“जी , मैं विजय को बोल कर रात को आ जाऊंगी…” शाम को ही कोमल घर आ गई, साथ में अपना नाईट सूट भी ले आई… उसका नाईट सूट क्या था कि बस… छोटे से टॉप में उसके स्तन उसमे आधे बाहर छलक पड़ रहे थे।

उसका पजामा नीचे उसके चूतड़ों की दरार तक के दर्शन करा रहा था। पर वो सब उसके लिये सामान्य था।

Bookmark for Hindi Chudai kahaniya

उसे देख कर तो मेरा लौड़ा कुलांचे भरने लगा था।

मैं कब तक अपने लण्ड को छुपाता। कोमल की तेज नजरों से मेरा लण्ड बच ना पाया। वो मुस्करा उठी।

कोमल ने मेरी वासना को और बाहर निकाला- पापा… मम्मी से दूर रहते हुए कितना समय हो गया… ?

“बेटी, यही करीब 16-17 साल हो चुके हैं !”

“क्या ?? इतना समय… साथ भी नहीं सोये…??”

“साथ सोये ? हाथ भी नहीं लगाया…!”

Bookmark for Hindi Chudai kahaniya

“तभी… !”

“क्या तभी…?” मैंने आश्चर्य से पूछा।

“पापा… कभी कोई इच्छा नहीं होती है क्या?”

“होती तो है… पर क्या कर सकता हूँ… सुमन तो छूने पर ही गन्दी गालिया देती है।”

“तू नहीं और सही…। पापा प्यार की मारी औरतें तो बहुत हैं…”

“चल छोड़ !!!

Bookmark for Hindi Chudai kahaniya

अब आराम कर ले… अभी तो उसे आने में एक घण्टा है…चल लाईट बंद कर दे !”



"sister sex with brother""desi sex new""free hindi sexy kahaniya""bhabhi ko choda hindi""desi story""bhabhi ko choda kahani""sexstories in hindi""hindi sex stori"rasaali"free hindi sex store""hindi chudai kahaniya""hindi sexi stories""fucking story""sexy antarvasna""sex ki kahani""सेक्स stories""best indian sex stories""hindi sex stori""सेक्स stories""sex kahani""sexy story antarvasna"antarvasna..com"hindi me chudai story""bhabhi ko choda""इंडियन सेक्स""chachi ki chut""lambi chudai""indiam sex"sistersex"chudai ki khaani""desi chudai kahani""sexy storys"antarvasana"jija sali sex stories""indian sex kahaani""antarvasna sali"hindichudai"antarvasna sex stories""kahani hindi""bhabhi ki chudai ki kahani""sex stories hindi""hindi sexi story""bus sex story""hindi desi sex stories""ladki ki chudai kahani""aunty chudai""mast ram sex story"chudaikahaniअंतरवासना"hindi sex kahani""hindi sexy stories.com""ladki ki chudai story"antarvasana"chudai kahani new"antarvsnahindisexstoris"hindi chudai kahaniya""साली की चुदाई""www.sex stories""sexy stories"desikhani"indian real sex stories""mastram chudai ki kahani""hindi chudai kahani"www.antervasna.com"chudai ki kahani in hindi""handi sex stori""चुदाई कहानी""mastram sexstory""nangi chudai"antarvashnaanterwashna"indian sexstory""चुदाई कहानी""sex storiea""new desi sex stories""mastram kahani""sex atories""chut kahani"antarvasana.com"meri chudai ki kahani"