जीजू ने आधी रात में छत पर चोदा

जीजू ने कहा- इतनी रात को कौन आयेगा, मेरी डार्लिंग आ जाओ न मेरी बाहों में!

मैंने कहा- रुको जीजू, मैं पहले नीचे घर में देख कर आती हूँ कि सब सो गए या नहीं.

मैं नीचे आई तो देखा कि सब सो रहे थे, मम्मी पापा का रूम ग्राउंड फ्लोर पर था, मेरा रूम फर्स्ट फ्लोर पर और मेरी चुदाई होनी थी ऊपर छत पर तो मैं सब कुछ देख कर फिर छत पर गई और छत के दरवाजे को बंद कर दिया.

मैंने मुड़ कर जीजू की तरफ देखा तो जीजू सिर्फ अंडरवीयर में थे, वे अपने कपड़े उतार चुके थे, जीजू मेरी तरफ आये और उन्होंने मुझे खींच कर अपनी बांहों में ले लिया.

जीजू को अपने जिस्म से खेलते हुए पाकर मेरी साँस तेज हो गयी, जीजू ने अपने होंठ मेरे होंठ से चिपका दिए, हम एक दूसरे की जीभ को टटोल रहे थे।

फिर उन्होंने मेरे हाथ ऊपर करके मेरी टीशर्ट निकाल दी. जीजू ने मेरे चूचे मेरी ब्रा के ऊपर से ही दबाने शुरू कर दिए. मेरी पेंटी के अंदर उनका हाथ अब मेरी चूत तक पहुँच चुका था जो गीली हो चुकी थी।

मैं मेरे एक हाथ की उंगलियाँ उनके बालों में घुमा रही थी। मैं तो किसी और ही दुनिया में थी। मुझे इतना भी होश नहीं था कि कोई छत पर आ भी सकता है।

जीजा ने मेरी ब्रा उतार दी और मेरी गोरी सुडौल चूची उनके सामने थी, उनकी आँखें तो बस मेरी चूची को देखती ही रही. जीजू ने एक हाथ मेरी एक चूची पर रखा और दूसरी चूची पर अपने गर्म होंठ रख दिए. मेरे मुख से आनन्द भरी सिसकारी निकल गई.

मैं अपने होश पूरी तरह खो चुकी थी।

वो सिर्फ़ अंडरवीयर में थे और उनके लंड का सख़्त होना मुझे महसूस हो रहा था. मैं सिर्फ़ पेंटी में उनके सामने खड़ी थी। उनकी आँखों की चमक बता रही थी कि उन्होंने इससे अच्छा बदन कहीं नहीं देखा था।

अब वो मेरी पेंटी को उतारने लगे, मैं उनका साथ दे रही थी. उन्होंने मेरी पेंटी निकाल दी. एक जवान मर्द के सामने नंगी होने के ख्याल से ही मैं सिहर गई थी। अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था

वो मेरे पूरे बदन से खेल रहे थे जिस भी हिस्से में उनका मन करता अपने होंठों से चूमने चाटने लगते, कभी मेरा चेहरा, गाल, कभी चूचियाँ, कभी पेट, जांघें, चूतड़, कमर गर्दन, बगलें!

मैं पागल हुई जा रही थी… उफ क्या एहसास था. मैं बस उन की छाती में समा जाना चाह रही थी।

वो धीरे धीरे नीचे जाने लगे। अभी बारिश भी थोड़ी तेज होने लगी थी, मैंने जीजू से कहा- जीजू, बारिश तेज हो गई है, अब क्या करें?

तो उन्होंने कहा- मेरी जान, बारिश में ही तो चुदाई का असली मजा है, तुम तो बस अपनी चूत की चुदाई के मजे लो और मुझे चोदने दो.

मुझे भी खूब मजा आ रहा था, बारिश में चूत चुदवाने का ये एक अलग ही मजा था.

Antarvasna Jija Sali Sex Story – साली साहेबान बीवी मेहरबान

अब जीजू ने मुझे वहीं लिटा दिया. जैसे जैसे वो मुझे चूमते हुए पेट और नाभि और चूत तक आये, मेरी हल्की सी चीख निकल गयी। मैं अपने होश में नहीं थी, बस अब मुझे उनका गर्म और टाइट लंड अपनी चूत में चाहिए था। अरे उस वक्त तो उनका लंड क्या, किसी का भी लंड होता तो मैं चुद लेती.

अब जीजू मेरी चूत को चाट रहे थे, मैं बस पागल हो रही थी। थोड़ी देर चूत चाटने के बाद वो उठे और अपनी अंडरवीयर उतार दी और मेरे होंठों पर अपने लंड को टिका दिया, जीजू का लंड था तो इसके लिए मेरा मुँह अपने आप ही खुल गया। मैं जीजू का लंड चूस रही थी और जीजू की सिसकारी निकल रही थी। मैं पागलों की तरह जीजू के लंड को चूसने लगी इतना बड़ा और मोटा लंड चूसने में बहुत मजा आ रहा था, आज मुझे पता नहीं क्या हो रहा था।

मैं उनके टट्टों को चाटने लगी, वो भी पागल से हो रहे थे. अब वो उठे और मुझे नीचे लेटा कर मेरे ऊपर आ गये और मेरी चूत पर अपना लंड टिकाकर रगड़ना शुरू कर दिया।
मैं भी कामुकता के आवेश में हो रही थी, मैंने उनके चूतड़ पकड़ कर अपनी तरफ खींच लिए तो उनका लंड मेरी गीली चूत में समा गया और जीजू झटके मारने लगे. मैं उनके चूतड़ अपनी तरफ खींचे जा रही थी, वो ज़ोर ज़ोर से मुझे चोद रहे थे, मैं तो सातवें आसमान में थी।

आज तक उन्होंने मुझ जैसा माल नहीं चोदा होगा इसलिए वो ज़ोर से झटके मार रहे थे, मेरी चूत की गर्मी से उनसे रहा नहीं गया, वो अपने चूतड़ हिला हिला कर मुझे चोदे जा रहे थे और फिर उनके लंड से पिचकारी निकली और मेरी चूत की दीवारों को अपने लंड की निशानी से भिगोने लगे में भी झड़ चुकी थी। वो मुझ पर निढाल हो कर गिर पड़े; फिर वो साइड में आँख बंद कर लेट गए

हम दोनों छत पर बारिश में ऐसे ही लेटे हुए थे, दोनों बुरी तरह थक चुके थे; कुछ देर हम दोनों ऐसे लेटे रहे, फिर मैं उठी और अपने कपड़े उठा कर नीचे जाने लगी तो जीजू ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोले- इतनी भी क्या जल्दी है जाने की मेरी जान? अभी यो चुदाई शुरू हुई है, आज तो पूरी रात चुदाई चलेगी!

मैंने कहा- जीजू अब मुझे जाने दो, मैं थक चुकी हूं और ठंड भी लग रही है.

तो उन्होंने कहा- तुम्हारी ठंड का इलाज तो में अभी कर देता हूं.

इतना कह कर उन्होंने मुझे फिर से अपनी बाहों में लेकर यहाँ वहाँ चूमने लगे और कहा- क्यों मेरी जान, कुछ ठंड कम हुई?

मैंने अपना सिर हाँ में हिला दिया.

अब मैंने और जीजू ने 69 पोजीशन बनाई, वो मेरी चूत को चाट रहे थे और मैं उनके लंड को चूस रही थी. बाप रे वो लंड इतना मोटा था कि मुश्किल से मेरे मुख में फिट हो रहा था. मेरे दोनों गाल फूल जाते थे जब मैं उस लंड को मुँह में लेती थी.

और फिर जीजू ने मेरी चाट चाट के सच में खा ली. वो अपने दांतों से भी मेरी चूत को खुजा रहे थे और चूत के दाने को उनके बीच में दबा रहे थे. मैं तो जैसे पागल हो रही थी इस मस्त सेक्सी अदाओं की वजह से और मेरे मुख से जोर जोर की सिसकारियाँ निकल रही थी.

जीजू ने अब मेरी चूत में अपनी एक उंगली डाली और उसे आगे पीछे करने लगे, फिर वो बोले- अब तो मैं रुक नहीं सकता हूँ मेरी जान!

इतना कह कर वो मेरे ऊपर आ गए और एक हाथ से पकड़ के अपने लंड को मेरी चूत में घुसा दिया. उन्होंने मुझे किस किया क्यूंकि उन्हें भी पता था कि मैं उनके बड़े लौड़े को बिना दर्द के नहीं ले सकती हूँ.

उन्होंने मुझे किस करते हुए पहले तो लंड को ऊपर ऊपर से ही घिसा, जब चूत एकदम गीली हो गई तो उन्होंने धक्का दे दिया और मेरी गीली चूत के अन्दर उनका लंड आराम से फिसल गया.

Antarvasna Jija Sali Sex Story – बड़े भाई की मैं लुगाई

मैं कराह उठी लेकिन अब लंड अन्दर हो गया था इसलिए मुझे भी सुकून सा हुआ था. जीजू के लंड के धक्के अब मेरी चूत में लगने लगे थे और मैं अपनी कमर को हिला हिला के उनका लेने लगी थी.

और फिर तो बाकी सब वही था जो हर चुदाई में होता है, कभी सीधे सीधे तो कभी उलट पुलट के मुझे भी चोदा गया.

चुदाई के बाद हम इतने थक चुके थे कि वहीं सो गए.

सुबह करीब 5 बजे मेरी नींद खुली तो मैंने जीजू को भी जगाया और उन्हें जाने के लिए बोली.

वो चले गए और मैं नीचे अपने रूम में आ गई.



"bhabhi ki behan ki chudai""hindi porn stories""indian porn stories""hindi sex stories mastram""indian family sex stories""adult stories in hindi""hindi sexi stories""ammayi sex""desy sex""sex kahaniyan""माँ की चुदाई""indian sex stories hindi""antarvasna mastram""deshi chudai""हिंदी सेक्स स्टोरीज"चूत"meri chudai ki kahani""hindi sx story"चुदाईantarwsna"free sex hindi""hindi saxy khani""desi kahani hindi me""chodai ki kahani hindi""indina sex""sex with sali"hotsexstory"hindi kahani sex ki""chudai ki khaani""hot sex story""chechi sex""oriya sex story""latest sex stories""indian sex stories""hindi sex khaneya""sex story.com""sex kahani"balatkarantarvasnadesikahani"hindi sex kahaniya""bahu ki chudai""hindi sex storirs""bahu ki chudai""my hindi sex stories""papa mummy ki chudai""hindi xxx stories""chudai ki kahani hindi me"chudayiantarvasn"sex brother sister""antervasna hindi story""sexi stories""antarvasna kahani""kamukta. com"anyarvasna"hindi indian sexy story""kamukta story""indian sex story hindi""चुदाई कहानी""mastram ki kahaniya""free hindi sexy story""mast chudai""hindi sec stories""indian sex stories""hindi adult stories""sex khaniya""mastram ki sexy story""odia sex stories""hindi mein sexy kahani""बहन की चुदाई""meri chudai ki kahani""sasur aur bahu ki chudai ki kahani""kahani sex ki""xxx stories hindi""sex ind""bhabhi ko choda hindi"desikahani2.net"सेक्सी हिन्दी कहानी"hindisex